श्रीहर्ष मजेटी | Sriharsha Majety | SWIGGY | Biography

Sriharsha Majety : Success Story of SWIGGY Co-Founder - 

SRIHARSHA MAJETY के ऊपर बॉलीवुड मूवी के फेमस डायलॉग खूब फिट बैठती है "हार कर जितने वाले को बाजीगर कहते है। ",  अपने पहले स्टार्टअप में असफलता से सीखते हुए एक ऐसी कंपनी खड़ा कर दी जिसके बारे में पहले सोचा जाना भी असंभव था। SWIGGY एक ऐसी कल्पना थी जिसे साकार कर पाना एक नामुमकिन सा था लेकिन श्रीहर्ष मजेटी और उनके साथी नंदन रेड्डी (Nandan Reddy) ने मिलकर इस सपनों को न बल्कि जिया अवन्तु साकार भी किया। आज हम भारत के Youngest Entrepreneur Sriharsha Majety के बारे में जानेंगे -

Sriharsha Majety Wiki - श्रीहर्ष मजेटी का परिचय 

श्रीहर्ष मजेटी | Sriharsha Majety | SWIGGY | Biography
SWIGGY CO-Founder श्रीहर्ष मजेटी 

  • पूरा नाम - श्रीहर्ष मजेटी ( SRIHARSHA MAJETY)
  • पिता का नाम - हरि मजेटी 
  • शिक्षा - IIM Calcutta 
  • संस्थापक - SWIGGY
  • पद - CEO


Sriharsha Majety के पिताजी का विजयवाड़ा में भोजनालय का व्यवसाय है तथा इनकी माताजी पेशे से डॉक्टर है। श्रीहर्ष मजेटी ने अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई पिलानी स्थित बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस से पूरी की। श्रीहर्ष मजेटी ने आगे की पढ़ाई इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट कलकत्ता से पढ़ाई की। 

Sriharsha Majety Career - श्रीहर्ष मजेटी की व्यसायिक शुरुआत  

Sriharsha Majety ने कुछ वर्षो तक बैंकिंग में अपना कैरियर बनाया लेकिन उन्हें कुछ ही दिनों बाद लगने लगा के वो एक बंधे बँधाये जीवन को नहीं जी सकते। श्रीहर्ष मजेटी का सह-पाठी तथा दोस्त थे नन्दन रेड्डी। नंदन रेड्डी के साथ मिलकर श्रीहर्ष ने एक कंपनी स्टार्ट की - बंडल ( BUNDL )

BUNDL एक लॉजिस्टिक सर्विस सलूशन कंपनी थी। श्रीहर्ष मजेटी ने देखा की भारत में ऑनलाइन बिज़नेस अपना पैर पसार रहीं हैं। Flipkart, Amazon जैसी ऑनलाइन कंपनी बाजार के एक बहुत बड़े हिस्से पर कब्ज़ा कर चुकी थी। छोटे बिजनेसमैन इस कम्पनी से जुड़ कर अपना व्यापार को बढ़ा रहे थे। लेकिन इनलोगों की सबसे बड़ी समस्या थीं सामान को ग्राहकों तक पहुँचाना, लॉजिस्टिक कंपनी महँगे तथा उतने यूजर फ्रेंडली नहीं थे। 
बंडल इसी समस्या का समाधान करती थीं, यूजर फ्रेंडली तथा सस्ता सेवा ऑनलाइन लॉजिस्टिक को मैनेज करने में सहायता करती थीं। कुछ ही दिनों बाद ऑनलाइन कंपनी Flipkart, Amazon जैसी कंपनी ने फैसला किया की कस्टमर को अच्छी सुविधा के लिए खुद का लॉजिस्टिक कंपनी की शुरुआत कर दी। यह खबर BUNDL के लिए बुरी खबर थी। कुछ ही दिनों बाद Sriharsha Majety और Nandan Reddy ने BUNDL फैसला किया। 

SWIGGY - स्विग्गी की शुरुआत      

SRIHARSHA MAJETY और NANDAN REDDY को भारत में उम्मीद की एक किरण दिखीं। लॉजिस्टिक फील्ड में यहाँ बहुत बड़ी उम्मीद थीं क्योंकि लॉजिस्टिक कंपनी की सर्विस एक तो सीमित क्षेत्रों में थी ऊपर से इनकी सर्विस जबाबदेही न के बराबर थीं। इन दोनों ने फील्ड खोजना शुरू किया जहाँ अपने लॉजिस्टिक एक्सपेरिंस का इस्तेमाल कर सकें। 

Sriharsha Majety ने देखा की भारत में फ़ूड डिलीवरी ऑनलाइन सर्विस सिर्फ़ ZOMATO की थीं। वो भी सिर्फ़ रेस्टुरेंट की सिर्फ जानकारी देती थी तथा होटल या रेस्ट्रोएंट की डिलीवरी सर्विस को यूज़ करती थी। श्रीहर्ष ने नंदन के साथ मिलकर ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी और ऑर्डरिंग में हाथ आजमाने का फैसला किया। SRIHARSHA MAJETY और NANDAN REDDY को ये अच्छी तरह पता था की अब सिर्फ प्लानिंग से काम नहीं चलने वाला उन्हें एक IT EXPERT बन्दे की जरुरत है जो इनके सोच के मुताबिक वेबसाइट डिज़ाइन करें, इसके लिए इनदोनो ने IITian Rahul Jaimini के साथ मिल कर SWIGGY की स्थापना की।  

SWIGGY की शुरुआत वर्ष 2014 में बैंगलुरु शहर से हुई। शुरुआत में इनलोगों ने उन होटलों को टारगेट किया जो अच्छे लोकेशन के बाबजूद कस्टमर लाने में नकाम थीं। बाद में धीरे-धीरे उन होटलों एवं रेस्टोरेंट्स को शामिल करने लगे जिनकी फ़ूड क़्वालिटी तो अच्छी थी लेकिन प्राइम लोकेशन के कारण ग्राहक यहाँ तक पहुँच नहीं पा रहे थे। देखते-देखते SWIGGY  पुरे बेंगलुरु में छा गई।  


SRIHARSHA MAJETY की सपनों की उड़ान  

श्रीहर्ष मजेटी ने शुरुआती सफलता के बाद स्विग्गी को बेंगलुरु के अलावा दूसरे शहर में भी फैलाना चाहते थे। इसके लिए उन्हें चाहिए था एंजेल इन्वेस्टर। वर्ष 2015 में ACCEL, SAIF PARTNERS और NORWEST VENTURE PARTNERS से करीब $2M की इन्वेस्ट प्राप्त हुआ। 

श्रीहर्ष मजेटी ने अपने मेहनत और लगन से स्विग्गी को पुरे भारत में फैलाया, आज लगभग 300 शहरों में स्विग्गी की अपनी ऑनलाइन फ़ूड डिलीवरी सर्विस है। लगभग 2.2  लाख स्विग्गी के कर्मचारी है।    


श्रीहर्ष मजेटी | Sriharsha Majety | SWIGGY | Biography
स्विग्गी के सह-संस्थापक के साथ श्रीहर्ष मजेटी