भविश अग्रवाल | Bhavish Aggarwal | Ola Cabs | Biography


Ola Cabs Founder Bhavish Aggarwal - Biography in Hindi : हौसलों की उड़ान किसी उम्र की मोहताज नहीं होती ये साबित किया है OLA Cabs के संस्थापक Bhavish Aggarwal ने। IIT Bombay से Passout, Ex-Microsoft Employee भविश अग्रवाल ने एक ऐसी कम्पनी की स्थापना कर दी जिसके बारे में भारत में कोई सोच भी नहीं सकता था। आज हम भारत के Youngest Entrepreneur से एक Ola Cabs Founder भविश अग्रवाल के बारे में जानेंगे।   

Bhavish Aggarwal Wiki - भविश अग्रवाल का परिचय 

भविश अग्रवाल | Bhavish Aggarwal | Ola Cabs | Biography
Ola Cabs Founder -भविश अग्रवाल 

  • नाम - भविश अग्रवाल ( Bhavish Aggarwal )
  • जन्म तिथि - 28 August 1985 ( उम्र  34)
  • जन्म स्थान - लुधियाना, पंजाब  
  • माता का नाम - उषा अग्रवाल 
  • पिता का नाम - नरेश कुमार अग्रवाल 
  • पत्नी का नाम - राजलक्ष्मी अग्रवाल 
  • संस्थापक - OLA Cabs
  • पद - CEO ( सीईओ)

Bhavish Aggarwal, IIT बॉम्बे से अपना पढ़ाई पूरी करने के बाद भविश अग्रवाल ने माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी में ज्वाइन कर लिया। दो साल यहाँ काम करने के बाद उन्हें लगने लगा की वो टिपिकल लाइफ स्टाइल के लिए नहीं बने है, उन्हें समय से बंधे रहना बिल्कुल पसंद नहीं था। Bhavish Aggarwal को लगता था वो ये जॉब तो कभी भी रिस्टार्ट कर सकते है लेकिन अपने सपने पूरा करने का दूसरा समय नहीं मिलेगा। यही मौका हैं जॉब छोड़ने के लिए। 

Bhavish Aggarwal के दिमाग में स्टार्टअप का ख्याल पहले से ही था, भविश को ट्रेवल एंड टूरिज़्म में काफी अच्छी सम्भानाये दिखती थी। जब भाविश ने अपने पिताजी को अपने स्टार्ट अप प्लान के बारे में बताया तो पिता नरेश अग्रवाल ने मजाक उड़ाते हुए कहा " कही तो ट्रेवल एजेंट बनने का तो नहीं सोच रहा। "   

Bhavish Aggarwal ने काफी रिसर्च कर के एक वेबसाइट बनाई OLATRIP.COM इसमें भाविश ने अच्छे Short Duration Holidays और Weekend Holidays को वेबसाइट पर लिस्टेड किये। यह सब करते देखकर भाविश के पिताजी को भाविश के कैरियर की चिंता होने लगी। उन्होंने Bhavish Aggarwal को समझाते हुए कहा अगर तुम्हें बिज़नेस ही करना है तो किसी अच्छे इंस्टिट्यूट से MBA कर लो, उसके बाद कुछ साल इस फील्ड में जॉब कर के एक्सपेरिंस ले लो तब अपना स्टार्टअप स्टार्ट करना।   

Bhavish Aggarwal ने अपने सपने को पाने के ज़िद से अब पीछे नहीं हटने वाले थे। OLATRIP.COM पर जब कोई भी रेस्पॉन्स नहीं मिली तब भाविश ने दिल्ली में हो रहे कॉमन वेल्थ गेम में पम्पलेट लेकर पहुँच गए की कहीं यही कोई उनका टूर प्लान खरीद ले। लेकिन सुबह से शाम हो गई मगर एक भी हॉलिडे पैकेज नहीं बिका। इससे भाविश निराश जरूर हुए लेकिन ना उम्मीद नहीं। 


OLA CABS की शुरुआत 

Bhavish Aggarwal एक बार किसी काम से बैंगलोर से बांदीकुई जाने के लिए कैब बुक की। जब कैब एक सुनसान इलाके से गुजर रही थी तो कैब वाले ने कैब रोक कर भाविश से Re-Negotiate करने लगा। भाविश ने उसे पूछा "हमने तो पहले ही किराया तय कर लिया था।", कैब ड्राइवर बोला " मुझे क्या पता था रोड इतनी खराब होगी, मैं तो इतने किराया में आगे नहीं जाऊंगा। " भाविश ने और पैसे देने से इंकार कर दिया जिसके बाद कैब ड्राइवर उसे वही उतारकर चला गया। Bhavish Aggarwal वहीं बैठ कर सोचते रहे की लोगों को कहीं घूमने जाने के लिए किसी एडवाइस की जरुरत नहीं, भारत में किसी जान पहचान के एक अच्छी कैब सर्विस मिलना काफी मुश्किल है, बस यही भाविश के दिमाग में OLA CABS का ख्याल आया। 

BHAVISH AGGARWAL  कुछ दिनों बाद ही मुम्बई अपने दोस्त Ankit Bhati से मिलने पहुंचे। वहाँ उनसे अपनी नई स्टार्टअप आईडिया को शेयर किया। कुछ ही दिनों में दोनों ने मिलकर एक वेबसाइट लांच कर दी OLACABS.COM . कुछ ही दिनों में OLACABS काफी पॉपुलर वेबसाइट बन गई। 

Bhavish Aggarwal ने अपने आईडिया से भारत की बड़ी आबादी की एक बहुत बड़ी समस्या हल कर दी थी। भारत में अधिकतर लोगो के पास कार नहीं है जिनके पास है भी उन्हें पेट्रोल, पार्किंग तथा ड्राइवर की समस्या रहती है। भारत में कैब एक असंगठित क्षेत्र में गिना जाता था। भाविश और अंकित ने इन्हें एक प्लेटफॉर्म पर ला कर एक बहुत बड़े मार्केट पर कब्ज़ा कर लिया। 

Bhavish Aggarwal और Ankit Bhati ने वर्ष 2012 के मध्य में  OLA Cabs का मोबाइल एप्प लांच कर दिया। ओला कैब को वर्ड ऑफ़ माउथ के कारण काफी लोकप्रियता मिली। ओला कैब की पहुंच बहुत जल्द ही लोगों को बीच हो गई। जिसके कारण OLA CABS को एंजेल इन्वेस्टर आसानी से मिल गई। जिसके चलते OLA CABS ने अपने कस्टमर को बहुत सारे लुभाने ऑफर दिया। OLA CABS अपने ऑफर के कारण लगभग हर एंड्राइड मोबाइल में इंस्टॉल किये जाने लगे।       

OLA CABS ने बहुत जल्द भारत के अधिकांश कैब सर्विस सेक्टर पर कब्ज़ा कर लिया। UBER जैसे INTERNATIONAL CAB SERVICES होते हुए भी पुरे भारत के कैब सर्विस मार्केट पर लगभग 60% हिस्सेदारी ओला कैब की है। 

BHAVISH AGGARWAL की योजना और कंपनी की प्लानिंग से काफी अलग थी। बिज़नेस की एक बहुत फेमस लाइन है " कस्टमर भगवान के रूप होती है। " लेकिन भाविश ने इसे अलग ढंग से परिभाषित किया। ओला कैब ने अपनी सबसे बड़ी पूँजी ड्राइवर को बनाया। OLA CABS ने असंगठित सर्विस सेक्टर के ड्राइवर को संगठित कर के उन्हें वित्तीय मदद की, उन्हें ज्यादा प्रॉफिट शुरू में बाँटे गए, नए गाड़ियों के लिए ड्राइवर को सेल्फ-स्टार्टअप के लिए प्रेरित कर उन्हें लोन उपलब्ध कराया। 

भाविश अग्रवाल ने अपने व्यापर को देश विदेश में फैलावा, आज OLA CABS की सर्विसेज देश के अलावा ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूज़ीलैण्ड तथा अन्य देशों सहित 250 शहरों में उपलब्ध है।


भविश अग्रवाल | Bhavish Aggarwal | Ola Cabs | Biography
ऑटो ओला लांच करते हुए भाविश अग्रवाल 
भविश अग्रवाल | Bhavish Aggarwal | Ola Cabs | Biography
भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के साथ भाविश अग्रवाल 
भविश अग्रवाल | Bhavish Aggarwal | Ola Cabs | Biography
पत्नी राजलक्ष्मी के साथ भाविश अग्रवाल 
  
अन्य लेख पढ़े -

रितेश अग्रवाल -  OYO Rooms Founder